Skip to main content

संपर्क करे



दिल्ली में ही पत्रकारिता की शुरूआत की। दिल्ली विश्वविद्यालय के डॉ भीमराव आंबेडकर कॉलेज, यमुना विहार से पत्रकारिता में स्नातक और कुरूक्षेत्र विश्वविद्यालय (हरियाणा) से स्नातकोत्तर की उपाधि ली है। पत्रकारिता की शुरूआत स्वर्गीय श्रीकांत जोशी जी के मार्गदर्शन में हिन्दुस्थान समाचार से की। वर्ष 2012 में हिन्दुस्थान समाचार में डेढ़ वर्ष तक सेवाएं दी। इसके बाद जालंधर पंजाब केसरी समूह के नए उपक्रम के रूप में दिल्ली में स्थापित हुए नवोदय टाइम्स हिन्दी दैनिक समाचार पत्र में राजनीतिक एवं समाजिक घटनाओं पर खबरें लिखी। इसके उपरांत पंजाब केसरी(दिल्ली) में तीन वर्ष तक सेवाएं दी। यहां सबसे कम उम्र के युवा पत्रकार के तौर पर राज्य सरकार को कवर किया। साथ ही मात्र 23 वर्ष की उम्र में राज्य सरकार से मान्यता प्राप्त पत्रकार की उपाधि मिली। इसके उपरांत देश के सर्वाधिक पढ़े जाने वाले हिंदी दैनिक दैनिक जागरण समाचार पत्र में राजनीतिक समाचार के संकलन की जिम्मेदारी देख रहा हूं।  उत्तर प्रदेश के अलीगढ़ जिले के छोटे से गांव हरवंशपुर में 14 फरवरी 1992 को जन्म हुआ। जब गांव में ही शिक्षा शुरू हुई तो कभी सोचा नहीं था दिल्ली भी जाना होगा। लेकिन प्रभु की कृपा से पिताजी को दिल्ली में सरकारी नौकरी की सुविधा मिली तो दिल्ली में भी आ गए। लेकिन इससे पहले गांव मेंं स्कूली शिक्षा की शुरूआत हो चुकी थी। दिल्ली आने के बाद सरस्वती विद्या मंदिर स्कूल से प्राथमिक शिक्षा ली कक्षा 6 से 12 तक राज्य सरकार द्वारा संचालित स्कूल जो कि पश्चिमी विनोद नगर पूर्वी दिल्ली में स्थित है उससे 12 वीं तक की पढ़ाई की। इस दौरान पिताजी से संस्कारों की वजह से किसी भी जगह समय पर पहुंचना और ईमानदारी से अपने कार्य को करने की प्रेरणा मिली। आज पत्रकारिता में करीब सात वर्ष हो गए हैैं, लेकिन ईमानदारी और समाज के आखिरी व्यक्ति की आवाज मीडिया में पहुंचे इसके लिए प्रयासरत रहता हूं। इसलिए मैैं इस सम्मान के लिए अपने आप को योग्य मानता हूं।  क्योंकि एक ग्रामीण पृष्ठ भूमि से होने की वजह से मैैं समाज के उस वर्ग की पीढ़ा समझता हूं जो कि संशाधनों के अभाव में अपनी बात मीडिया तक नहीं पहुंचा पाते हैैं। इसलिए मेरी कोशिश रहती है ऐसे समाज के बीच खुद जाकर उनकी बात सुनी जाए और उसे मीडिया में जगह दी जाए। चंकि आज का समय डिजीटल या यूं कहें सोशल मीडिया का भी है इसलिए मैैं समाज के विभिन्न मुद्दों पर ब्लॉग लिखने का कार्य कर वर्ष  2010 से ही कर रहा हूं। अब तक सवा लाख लोग मेरे ब्लॉक को पढ़ चुके हैैं। ब्लॉग का पता www.newssite.in 

https://www.facebook.com/nihaljilive


https://twitter.com/nihaljilive

Popular posts from this blog

एक पत्रकार की शादी का कार्ड

जैसा कि आपकों पता है कि गत वर्ष 26 नवम्बर 2015 को मेरी शादी हुई। वैसे तो हर प्रोग्राम में इंशान के खट्टे मीठे पल होते हैं। लेकिन बात जब शादी की हो तो केवल मीठे पल ही याद रखने चाहिए। क्योंकि दोस्तों का कहना है कि शादी के बाद खट्टे पल ही नजर आते हैं। हालांकि अभी तक तो जिंदगी बहुत सुंदर चल रही हैं। मैं और मेरी धर्मपत्नी नीलम एक दूजे से बहुत खुश है। यह तो रही शादी के बाद की बात अब आपकों शादी से पहले की ओर ले चलता हूं। शादी तय हो गई थी। परिवार की रजामंदी और मेरी पंसद से नीलम के साथ मेरा विवाह हुआ। वर्ष 2015 के 5 मार्च को हम दोनों ने एक दूसरे को पूर्वी दिल्ली के नीलम माता मंदिर में देखा था। और देखने के बाद मेरे परिवार और मुझे भी नीलम पंसद आ गई थी। इसके बाद शादी की तैयारियां शुरू हो गई थी। सबसे पहले की रस्म थी। रोके की रस्म । यह रस्म भी खूब धूमधाम से मनाई गई। मैं और मेरा परिवार नाते रिश्तेदारों के साथ 20 अप्रैल को नीलम के निवास पर गोद भराई अर्थात रोके की रस्म के लिए गए। यहां हम दोनों ने समाज के सामने एक दूजें को अगुठियां पहना कर अपना लिया। इसके बाद बातों का सिलसिला चला और शादी की तैयारिया श…

दैैनिक जागरण

RTI FORMAT- आरटीआई प्रथम अपील के आवेदन का प्रारुप

मित्रों आप जब किसी विभाग में आरटीआई फाईल करे और आपको 30 दिनों के भीतर जवाब न मिलें तो आप इस तरह के प्रारुप का इस्तेमाल करके प्रथम अपील फाईल कर सकते है।
-------------------------------------------------------------------------
-- प्रारुप को देखने के बाद सुझाव आमत्रित है..
=================================================

सेवा में,                                                               दिनांक......................... प्रथम अपीलीय अधिकारी, .......विभाग का नाम और पता........................... .................................... विषय- सूचना के अधिकार अधिनियम की धारा 19 के तहत प्रथम अपीलीय अधिकारी के समझ अपील। मान्यवर, मैने आपके कार्यलय में दिनांक ......................... को कुछ सूचनाओं के लिए आवेदन दिया था । मान्यवर आवेदन के संबध में सूचना अधिकारी महोदय द्वारा जो सूचनाए उपलब्ध कराई गयी है वह अधूरी व अस्पष्ट है। साथ ही इन सूचनाओं से मै संतुष्ठ नही हूं। कृपया करके मुझे स्पष्ट व पूर्ण सूचनाएं उपलब्ध कराने का कष्ट करें। मूल आवेदन की छाया प्रति संलग्न है।                                      …