गर्मी में वॉटर पार्क, यानि मस्ती पॉवरकूल

दिल्ली में वॉटर पार्क में बुझाएं गर्मी

बढ़ती गर्मी ने दिल्ली का पारा बढ़ा दिया है। ऐसे में दिल्ली में बने यह वॉटर पार्क आपकी गर्मी को दूर कर सकते है। दिल्ली के अलग-अलग कौने में बने वॉटर पार्क में आप अपनी गर्मी को ठंडा कर सकते है। मौज मस्ती और खाने के साथ पूरा परिवार भी इन वॉटर पार्क में जा सकता है। साथ ही पूरे दिन को मस्ती से भरा बना सकता है। अगर आप गर्मी में परिवार के साथ एक दिन के मस्ती करना चाहते हैं तो यह वॉटर पार्क आपके एक दिन को मस्ती भरा बना सकते है।

दो से तीन दिन का भी होता है पैकेज
अक्सर वॉटर पार्क की सोच कर ऐसा लगता है कि यह सिर्फ एक दिन के लिए हो सकता है। लोगों  में आम धारणा है कि सुबह से लेकर शाम तक इन वॉटर पार्क में मस्ती की जा सकती है। जबकि ऐसा नहीं है। दिल्ली के कई नामी गिरामी वॉटर पार्क है, जिसमें 2-3 दिन का पैकेज होता है। जिसमें न केवल पूरा परिवार आउटिंग की योजना बना सकता है बल्कि पूरा परिवार एक साथ पूरी मस्ती कर सकता है। कई वॉटर पार्क्स तो दिन में मौज मस्ती के साथ रात में स्थानीय कलाओं के साथ संस्कृति को भी दिखाते है।
किफायती मौज मस्ती
वॉटर पार्क को अगर किफायती मौज मस्ती का नाम दिया जाएं तो यह कोई गलत नहीं होगा। दिल्ली में करीब आधा दर्जन वॉटर पार्क चल रहे है। सभी की फीस का मिला जुला असर निकाला जाए तो यह काफी किफायती है। इसमें एक दिन का पैकेज  अगर आप लेना चाहें तो  3800 रूपए में मिल सकता है, तो वही दोपहर 12 बजे से 12 रात तक का पैकेज भी सात हजार तक मिल सकता है। इस पैकेज की खास बात यह है कि छोटी फैमली इसका पूरा लाभ ले सकती है। जिसमें एक पति-पत्नी के साथ दस साल से कम उम्र का बच्चा भी इस पैकेज में शामिल हो सकता है।  वहीं अगर आप फैमली के साथ वॉटर पार्क में दो –तीन दिन की मस्ती करना चाहते हैं तो 7200 रूपए तक का पड़ सकता है।
योजना बनाने से पहले ले पूरी जानकारी
अगर आप दिल्ली में वॉटर पार्क में मौज मस्ती करने जाने का प्लान बना रहे हैं तो आप इंटरनेट या फोन के माध्यम से वॉटर पार्क की सुरक्षा और पैकेज की पूरी जानकारी ले लेँ । जाने से पहले  इंटरनेट पर वॉटर पार्क की जानकारी ले। ताकि वहां पहुंचने पर जेब खाली होने का एहसास न हो। ज्यादातर वॉटर पार्क अपने हिसाब से पैकेज बनाते है। इ
सलिए जाने से पहले पैकेज में खाने की जानकारी के साथ लोगों की संख्या का भी पता कर लेँ।
- निहाल सिंह (लेखक दिल्ली के प्रतिष्ठित अखबार में कार्यरत्त है)


Comments

Popular posts from this blog

RTI FORMAT- आरटीआई प्रथम अपील के आवेदन का प्रारुप

एक पत्रकार की शादी का कार्ड

फ्रैक्चर को न करें नजरअंदाज,बन सकता है जिंदगी भर का दर्द