Skip to main content

Posts

Showing posts from 2016

हुजुर आते-आते बहुत देर कर दी

नई दिल्ली । बहुत देर से दर पे आँखें लगी थीं,हुज़ूर आते-आते बहुत देर कर दी, मसीहा मेरे तूने बीमार-ए-ग़म की दवा लाते-लाते बहुत देर कर दी। मशहूर हिन्दी फिल्म तवायफ के गाने के यह बोल दिल्ली भाजपा के साल के हिसाब पूरी तरह सटीक है। जी हां इस पूरे गाने दिल्ली भाजपा के पूरे साल का हिसाब चंदे सैंकड़ो में लगाया जा सकता है। क्योंकि दिल्ली भाजपा के लिए वर्ष 2016 आत्महत्या का साल रहा यां यू कह लिजिए कि अपने ही पैर पर कुल्हाड़ी मारने वाला साल रहा। हालांकि पार्टी के का दूसरा धड़ा मनोज तिवारी से कई उम्मीदें करके भी बैठा है । इस धड़े का मानना है कि तिवारी के आने से भाजपा को एक नई ऊर्जा मिलेगी और अगामी चुनाव में पार्टी को  जीत भी मिलेगी। क्योंकि पार्टी को पूर्वांचली कार्ड सफल होते दिखाई दे रहा है। मनोज तिवारी द्वारा की जा रही जनसभाओं में आने वाली भीड़ भी बढ़ गई है। पहले प्रदेश अध्यक्षों की भीड़ के लिए भाजपा को एड़ी चोटी का जोर लगाना पड़ता था, लेकिन पार्टी को लोगों का अपार जनसमर्थन मिल रहा है।  खुद भाजपाईयों का मानना है कि  30 नवम्बर 2016 को दिल्ली भाजपा के अध्यक्ष सतीश उपाध्याय की ज

व्हाट्सएप्प और फेसबुक को टक्कर देने पर औंधे मुंह गिरा गूगल

व्हाट्सएप्प और फेसबुक मैंसेजर को टक्कर देने चला गूगल औंधे मुंह गिरा है। आलम यह है कि दो दिन बीत जाने के बाद भी गूगल संभल नहीं पा रहा है। दरअसल पूरा मामला गूगल के हाल ही में लांच किए गए ALLO  एप्प का है। गूगल ने यह एप्प लांच किया तो सर्वर पर पड़े लोड की वजह एप्पलीकेशन ने काम करना भी बंद कर दिया। यही नहीं जब लोगों ने इसे डाउनलोड़ करने पर बेड कमैंट दिए तो गूगल माफी मांगते भी दिखाई दिया। आनन फानन में गूगल ने लोगों को ई-मेल भेजकर अपने सेवाओं को दुरूस्त करने आश्वासन भी दिया। और लोगों से कमैंट सुधारने का आग्रह किया। लेकिन बावजूद इसके एप्प ने सही काम करना शूरु नहीं किया। जिसकी वजह ALLO एप्प तो लोग डाउनलोड़ कर रहे हैं। लेकिन काम न करने की वजह से अपना गुस्सा गूगल प्ले स्टोर पर निकाल रहे है। क्योंकि एप्प डाउनलोड़ होने के बाद साइन अप और साइन इन में लोगों को काफी दिक्कत आ रही है। वहीं 100 बार भी यूजर नेम अलग-अलग डालने पर भी पहले से लिया हुआ यूजर नेम बताया जा रहा है। जिसकी वजह से इस एप्प को डाउनलोड़ करने वाले लोग खासे परेशान है। गूगल की सफाई---- Hi, we've had so many new Allo users

Nihal singh and anoop akash verma @nihaljilive

गाय के गोबर के उपलो पर भारी डिस्काउंट

आपने कपडे से लेकर खाने पीने का सामान तो ऑनलाइन बिकता हुआ देखा, खरीदा और सुना होगा लेकिन गाय का गोबर ऑनलाइन बिके तो यह बात थोड़ी हैरान करने वाली है। लेकिन अब हैरान होने की जरुरत नहीं है। जी हा सही पकड़ा आपने अब आप गाय के गोबर के उपले भी ऑनलाइन खरीद सकते है। यही नहीं उपले बेचने वाली इस ऑनलाइन वेबसाइट ने भारी डिस्काउंट भी इन उपलो पर दे रखा है। 99 रुपए से 400 रुपए तक के उपले खरीदने का ऑप्शन इस वेबसाइट पर है। वेबसाइट ने इन उपलो की बिक्री घरो में होने वाले हवन के लिए शुरू की है। जिसे आप ऑनलाइन खरीदकर उपयोग कर सकते है। http://search.shopclues.com/?subcats=Y&status=A&pname=Y&product_code=Y&match=all&pkeywords=Y&search_performed=Y&z=1&q=cow+dunke+cakes&auto_suggest=0&cid=0&dispatch=products.search

जब पत्रकारों को मिली शबाशी के बदले मौत

भारत में पत्रकारिता करना नहीं है आसान, ये दो बीट्स हैं सबसे खतरनाक भारत उन पत्रकारों की मदद करने और उनकी रक्षा करने में विफल रहा है जो हिंसक धमकियों या फिर अपने काम के प्रति हमलों का सामना कर रहे हैं। ये कहना है पत्रकारों की सुरक्षा पर नजर रखने वाली एक अंतरराष्ट्रीय संस्था का, जिसने सोमवार को अपनी एक रिपोर्ट जारी की है। न्यूयार्क की संस्था ‘द कमेटी टू प्रोटेक्ट जर्नलिस्ट्स’ (सीपीजे) ने अपनी ताजा रिपोर्ट में दावा किया है कि उसने 1992 से भारत में पत्रकारों की हत्याओं के 27 मामल ों का अध्ययन किया और उनमें से एक में भी किसी को सजा नहीं हुई है। रिपोर्ट में बताया गया है कि इन 27 पत्रकारों में से 50% से ज्यादा पत्रकार भ्रष्टाचार संबंधी मामलों पर खबरें करते थे। 42 पन्नों की इस विशेष रिपोर्ट में कहा गया है कि भारत में रिपोर्टरों को काम के दौरान पूरी सुरक्षा अभी भी नहीं मिल पाती है। सीपीजे ने अपनी रिपोर्ट में भ्रष्टाचार और राजनीति को दो ‘सबसे खतरनाक बीट’ बताया गया है। सीपीजे ने कहा कि पिछले 10 साल में उसे सिर्फ एक ही ऐसा मामला मिला जिसमें एक पत्रकार की हत्या के मामले में एक संदिग्ध का अभियोजन

और अब आप पहनिए खादी के जूते...

नई दिल्ली ,   प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का सपना है कि देश का हर युवा देश की माटी से जुड़े और स्वावलंबी बने। इसी योजना के तहत उन्होंने खादी को बढ़ावा देने की बात कही है। जिससे खादी घर घर तक पहुंचे , लोगों को रोजगार मिले. लोग अपना काम शुरू कर सकें. प्रधानमंत्री की इसी योजना को अमली जामा पहनाते हुए आज राजधानी दिल्ली के ताजमानसिंह होटल में युवा खादी ब्रांड को लांच किया गया। इस ब्रांड की खास बात यह है कि यह नए तरह से खादी युवाओं तक पहुंचाएगा। मल्टीनेशनल कंपनियों के कंपटीशन को द्यान में रखते हुए युवा खादी ब्रांड के अंतगर्त पहली बार खादी के जूते लांच किए हैं देश में पहली बार खादी के जूते हाथ से काते और सिले गए हैं. युवा खादी ब्रांड और खादी के जूते देश को एक नया नजरिया देंगे. इस मौके पर सूक्ष्म , लघु और मध्यम उद्यम मंत्रालय में केंद्रीय राज्य मंत्री गिरिराज सिंह , सांसद मनोज तिवारी , सांसद उदित राज , महंत आदित्य कृष्ण गिरि भी मौजूद थे. खादी के जूते का अनावरण करते हुए गिरिराज सिंह ने कहा कि देश   में एमएसएमई मंत्रालय युवाओं को आत्मनिर्भर बनाने के लिए कई योजनाएं लाया है. इससे लोग

सिग्नेचर ब्रिज : आखिरकार पकने लगी बीरबल की खिचड़ी...

पर्यटन विभाग कर रहा है हर सप्ताह रिव्यू -     तेजी से हो रहा है काम , 1600 करोड़ पहुंचा बजट नई दिल्ली (निहाल सिंह) दिल्ली के सिग्नेचर ब्रिज निर्माण में तारीख पर तारीख दिए जाने का समय अब खत्म हो गया। तेजी से हो रहे काम के चलते सिग्नेचर ब्रिज के शुरू होने की उम्मीद जाग गई है। सरकार की माने तो इस साल के अंत तक इसे शुरू कर दिया जाएगा। ब्रिज के शुरू होने के बाद दिल्ली के न केवल पर्यटन को बढ़ावा मिलेगा बल्कि ब्रिज से गुजरने वालों को दिल्ली का सुंदर नाजारा भी देखने को मिलेगा। पाइल 23 का काम पूरा होने के बाद अब विभाग वैलकैप का काम शुरू करने वाला है। वैलकैप के तहत दोनों प्लरों को जोड़ा जाएगा। दिल्ली के पर्यटन मंत्री कपिल मिश्रा ने बताया कि सिग्नेचर ब्रिज के निर्माण में पाइल 23 की समस्या आ रही थी , जिसे विभाग ने पिछले दिनों सुलझा दिया है। अब वैलकैपिंग का कार्य किया जा रहा है। कपिल मिश्रा ने उम्मीद जताई की ऩए साल के तौहफे में दिल्ली वालों को सिग्नेचर ब्रिज सौंप दिया जाएगा। मिश्रा ने कहा कि हमारी सरकार आने के बाद सिग्नेचर ब्रिज के काम में तेजी आसानी से देखी जा सकती है। पहले ऐसे लगता था

दिल्ली केंदित मीडिया होना विकास के लिए खतरा...

अब कहा है रवीश कुमार पत्र कारिता में दाखिला लिया था , उस दौरान दिल्ली में यमुना का जल स्तर खतरे के निशान से ऊपर चला गया था। तो पूरे दिन सभी समाचार चैनलों पर दिल्ली की यमुना की तस्वीर यमुना में बोट लेकर पत्रकारों द्वारा जल का बहाव दिखाने की कोशिश , यमुना में बहकर आ रही सब्जियां जैसी खबरे खूब दिखाई जा रही थी। चूंकि मैं पत्रकारिता का छात्र था तो उस दौरान कई दूसरे क्लासमेट अन्य राज्यों से पढ़ने आए थे। उस समय में खबरों का आकलन करने की सोच धीरे-धीरे विकसित हो रही थी। जो दोस्त बाहर से पढ़ने आए थे वह इतने घबराएं हुए नहीं थे , जितने उनके माता पिता घबराए हुए थे। रोजाना दोस्तों को हर तीसरे – चौथे घंटे पर फोन आता था कि बाढ़ का पानी कही तुम्हारे घर के पास तो नहीं पहुंचा , अगर ऐसा कुछ हैं तो वापस घर आ जाओं जब बाढ़ चली जाएगी तो वापस चले जाना। मेरे दोस्त कभी हंसते हुए तो कभी गंभीरता से अपने अभिभावकों को विश्वास दिलाते कि उन्हें कुछ नहीं होगा। उस समय समझ आया कि एक माता पिता के लिए अपने बच्चे को दूसरे राज्य में पढाई के लिए भेजना कितना चिंता करने वाला काम होता है। खैर लेकिन बारिश बंद हुए बाढ़ नही

सबसे आगे हम

1 जुलाई 2016 को पंजाब केसरी में प्रकाशित  7 जुलाई को दैनिक हिन्दुस्तान में प्रकारशित खबर की सॉफ्ट कॉपी देश और विदेश में राजधानी दिल्ली की छवि सुधारने के लिए दिल्ली सरकार जुलाई के मध्य में भिखारी मुक्त अभियान शुरू करने जा रही है। इस अभियान के तहत न केवल भिखारियों को पकड़ा जाएगा, बल्कि भिखारियों का पुर्नउद्धार हो सकें इसके लिए विशेष अभियान भी सरकार चलाएगी। मिली जानकारी के मुताबिक दिल्ली का सामाजिक कल्याण विभाग ने भिखारी मुक्त अभियान की योजना तैयार की है। जिसके पहले चरण की कड़ी में जुलाई में शुरू किया जा रहा है। दिल्ली सरकार के विश्वस्त सूत्रों ने बताया कि भिखारी मुक्त अभियान के लिए दिल्ली सरकार ने विशेष अभियान चलाऩे का फैसला लिया है। जिसके जरिए दिल्ली के विभिन्न इलाकों में भिखारियों को पकड़ा जाएगा। दिल्ली के समाज कल्याण मंत्री संदीप जैन दिल्ली के कनाट पैलेस में इस अभियान का शुंभआरंभ करेंगे।इसके लिए दिल्ली पुलिस के साथ मिलकर दिल्ली सरकार ने सात टीमें गठित की है। यह टीमें दिल्ली के विभिन्न इलाकों मे जाकर भिखारियों को पकड़ेगी। सूत्रों ने बताया कि अभियान का पहला

अब चैन की लंबी-लंबी सांस ले उपाध्याय

आज का दिन दिल्ली भाजपा अध्यक्ष सतीश उपाध्याय के लिए चैन की सांस लेने का है। अभी आपकों समझ नहीं आया होगा। लेकिन मैं आपको समझाने की कोशिश करता हू। समझ आए तो नीचे प्रतिक्रिया बॉक्स में कमैंट और शेयर के जरिए अपनी उपस्थिति दर्ज कराएं। आईए अब में आपको समझाता हूं कि आज से उपाध्याय क्यों चैन की सांस ले सकते है। और यह चैन की सांस 10 अशोका रोड़ से होते हुए 14 पंडित मार्ग तक पहुंच रही है। ऐसा इसलिए क्योंकि पिछले तीन-चार माह से दिल्ली की राजनीति में सक्रिय हुए विजय गोयल अब केन्द्र में आज राज्य मंत्री बन गए है। विजय गोयल की सक्रियता से न केवल प्रदेश अध्यक्ष की कुर्सी के पहिए ढीले हो गए थे बल्कि पूरा डी4 चिंता में पड़ गया था। आए दिन विजय गोयल की गतिविधियों को देख दिल्ली भाजपा सत्ता रूढ केजरीवाल से जितनी डरती नहीं थी, जितना डर अपने ही भाजपा सांसद विजय गोयल से भाजपा को लग रहा था। प्रदेश अध्यक्ष और डी-4 को चिंता थी , अगर विजय गोयल प्रदेश अध्यक्ष बन गए तो उनका क्या होगा। जिसकी वजह डी4 विजय गोयल को गरियाने में कोई कसर नहीं छोड़ते थे। खैर अब तो विजय गोयल केन्द्र की राजनीति में पहुंच गए हैं तो डी-4

सबसे आगे हम जून 2016 भाग-1

पंंजाब केसरी (17-6-2016) में प्रकाशित खबर    प्रेसवार्ता करते आप प्रदेश संयोजक दीलीप पांडे, नितिन त्यागी, राजेश गुप्ता आम आदमी पार्टी द्वारा जारी रिलिज 17-6-2016 http://aamaadmiparty.org/press-release-17-june-2016 तमाम प्रमुख वैबसाइट ने प्रमुखता से किया प्रकाशित AAJTAK  http://aajtak.intoday.in/story/aam-aadmi-party-delhi-convener-dilip-pandey-attacks-on-bjp-and-congress-1-874536.html NEWS TRACK http://www.newstracklive.com/news/AAP-dilip-pandey-says-bjp-and-congress-negotiate-for-mcd-in-delhi-1063370-1.html NDTV  http://www.ndtv.com/delhi-news/congress-bjp-have-no-moral-right-to-question-on-office-of-profit-aap-1420309  TRIBUNE  http://www.tribuneindia.com/news/delhi/bjp-created-illegal-posts-in-delhi-civic-bodies-aap/253239.html THE HINDU http://www.thehindu.com/news/cities/Delhi/bjp-cong-gave-perks-to-municipal-leaders-aap/article8743623.ece PUNJAB NEWS EXPRESS http://punjabnewsexpress.com/national/news/bjp-created-illegal-posts-in-delh

बेटियां कर रही है नाम रोशन

- बेटी बचाओं बेटी पढाओं अभियान को मिल रही है मजबूती - हरियाणा में बढ़ा सैक्स रेशियों प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी की बेटियों के लिए महत्वकांक्षी योजना बेटी बचाओं बेटी पढ़ाओं का असर दिखाई दे रही है। यही वजह है कि पिछले कुछ समय से बेटियों के नाम रोशन करने वाली मौकों और अवसरों की तादात बढ़ती जा रही है। हाल ही में जब सिविल सर्विसेस की परीक्षा में टॉपर में जब टीना डाबी ने टॉप किया तो टीना डाबी की भी खूब सरहाना हुई। इसके बाद एक-एक करके लड़कियों के नाम रोशन करने वाले अवसर सामने आने लगे। हाल ही में सीबीएसई के 12 वी कक्षा के नतीजे भी आए। यहां भी लड़कियों ने खूब बाजी मारी। हर राज्य में न केवल लड़कों की तुलना में लड़कियों ने टॉप किया बल्कि पासिंग प्रतिशत भी लड़कियों का ज्यादा था। दिल्ली की सुकुति ने सीबीएसई में टॉप किया तो वहीं  जिस हरियाणा में लड़कियों के जन्म को श्राप माना जाता था उसी हरियाणा की कुरूक्षेत्र में रहनी वाली पलक गोयल ने टॉप किया तो करनाल की सोम्या तीसरे स्थान पर रही। वहीं शारिरिक अक्षम की कैटेगरी में भी हरियाणा के फरीदाबाद की रहने वाली मुदिता जगोटा ने पहला स्थान प्राप्त किय

अप्रैल 2016

गर्मी में वॉटर पार्क, यानि मस्ती पॉवरकूल

दिल्ली में वॉटर पार्क में बुझाएं गर्मी बढ़ती गर्मी ने दिल्ली का पारा बढ़ा दिया है। ऐसे में दिल्ली में बने यह वॉटर पार्क आपकी गर्मी को दूर कर सकते है। दिल्ली के अलग-अलग कौने में बने वॉटर पार्क में आप अपनी गर्मी को ठंडा कर सकते है। मौज मस्ती और खाने के साथ पूरा परिवार भी इन वॉटर पार्क में जा सकता है। साथ ही पूरे दिन को मस्ती से भरा बना सकता है। अगर आप गर्मी में परिवार के साथ एक दिन के मस्ती करना चाहते हैं तो यह वॉटर पार्क आपके एक दिन को मस्ती भरा बना सकते है। दो से तीन दिन का भी होता है पैकेज अक्सर वॉटर पार्क की सोच कर ऐसा लगता है कि यह सिर्फ एक दिन के लिए हो सकता है। लोगों  में आम धारणा है कि सुबह से लेकर शाम तक इन वॉटर पार्क में मस्ती की जा सकती है। जबकि ऐसा नहीं है। दिल्ली के कई नामी गिरामी वॉटर पार्क है, जिसमें 2-3 दिन का पैकेज होता है। जिसमें न केवल पूरा परिवार आउटिंग की योजना बना सकता है बल्कि पूरा परिवार एक साथ पूरी मस्ती कर सकता है। कई वॉटर पार्क्स तो दिन में मौज मस्ती के साथ रात में स्थानीय कलाओं के साथ संस्कृति को भी दिखाते है। किफायती मौज मस्ती वॉटर पार्क