तीन साल तक हजारों का जुर्माना भरा लेकिन मैंने नम्बर पोर्ट नहीं कराया

तीन  साल की लड़ाई के बाद आखिर आज मैं सफल ही हो गया.. सरकारी सिस्टम से पिछले तीन  साल से लड़ रहा था। दरअसल मामला मेरे मोबाइल कनेक्शन का था । एमटीएनएल ने मुझे लाख घटिया से घटिया सर्विस देने की कोशिश की लेकिन मैने अपना कनेक्शन किसी प्राईवेट कंपनी में पोर्ट कराने की बजाय सिस्टम से लड़ने की ठानी थी। करीब तीन साल पहले मैंने एमटीएनएल का पोस्टपेड कनेक्शन लिया था। लेकिन आज तक मुझे इसका बिल मेरे घर के पते पर नहीं मिला था। लेकिन जब आज डाकिया मेरे घर यह बिल वाला लैटर लेकर आया तो मुझे खुद पर गर्व होने लग गया। क्योंकि इस बिल को पाने के लिए न जाने में कितनी जनसुनावाई मैं जाकर इसकी शिकायत एमटीएनएल के अधिकारियों से की और न जाने कितनी बार मैंने कस्टूमर कॉल सैंटर पर फोन किया । वही ई-मेल का तो कहना ही नहीं, जब भी सरकारी सिस्टम से हताश होता तो एक ई-मेल एमटीएनएल को लिख देता कि जनाब मेरी यह समस्या है बिल घर पर नहीं आ रहा। बार-बार उनका एक ही जवाब आता की आपकी शिकायत आगे की कार्रवाई के लिए भेज दी है... अगले माह से आपकों यह समस्या नहीं होगी। लेकिन समस्या चलते-चलते करीब तीन साल हुए। 


लेकिन आज मुझे मेरा डिटेल एमटीएनएल का बिल मिल ही गया। इस बिल के लिए न जाने मैंने बिल जमा करने की तिथी निकलने के बाद बिल जमा किया और न कितने बार मैंने हजारों रुपए का जुर्माना भरा। लेकिन खुश हूं मैं वो जुर्माना भरकर की एमटीएनएल जैसे विभाग को मैने बिल भेजने पर मजबूूर कर दिया। 
मैं चाहता तो एक मैसेज से नम्बर पोर्ट करा सकता था, लेकिन मैने सोचा एक सरकारी विभाग नुक्सान में जा रहा है, अगर मैं इसका ग्राहक बना रहता तो कम से कम एमटीएनएल को कुछ तो लाभ होगा। इसलिए मैने ऐसा किया। हालांकि अभी भी बहुत समस्या है एमटीएनएल का नम्बर चलाने में। घर मैं नेटवर्क नहीं आते गली में बाहर निकलकर बात करनी पड़ती है। 
पर मुझे विश्वास है कि हम होंगे कामयाब 


-निहाल सिंह
8010302001
ई-मेल द्वारा की गई आखिरी शिकायत इस प्रकार है


सेवा में,                                                                                                                                        दिनांक-08/04/2013
          महाप्रबंधक,
          महानगर टेलीफोन नगर लि.
          यमुनापार, दिल्ली- 110092

विषय : बार- बार शिकायत करने के बावजूद शिकायत का निवारण न होने पर एक सप्ताह में स्पष्टीकरण हेतु।
 महोदय,
 मैं निहाल सिंह  दूरभाष संख्या 8010302001( पोस्टपेड ) का उपभोक्ता हूं। इस नंबर का बिल पिछले एक वर्ष से मुझे मेरे डाक पते पर नही मिल रहा है। जिसकी शिकायत मैं पिछले 6-7 माह से फोन व ई-मेल के माध्यम से आपसे व आपके विभाग से करता आ रहा हूं।  समस्या का निवारण न होने के बाद मैनें इसकी शिकायत 18 दिसंबर 2012 को हुए ओपन हाउस सेशन में भी की। बावजूद इसके इस समस्या से मुझे अभी तक निजात नही मिल पाई है।
 अतउपरोक्त मामले को गंभीरता से लेते हुए मुझे एक सप्ताह के अंदर यह जानकारी उपलब्ध कराएं कि मेरी शिकायत का निवारण क्य़ों नहीं हो पाया है।


                                                                                                                                                                                                                             प्रार्थी
                                                                                                                                                                                                                      निहाल सिंह
                                                                                                                                                                                                              यू.एस.-267, एफ ब्लाक ,
                                                                                                                                                                                                             मण्डावली फाजलपुर,
                                                               दिल्ली-110092.

AK Parwani managercsgsm@gmail.com

4/9/13
to 1503me
Dear subscriber,

Case reg,  non receipt of bill has already been refd. to postal
department for further n/a under intimatioon to this office but reply
is still awaited.
However your mail had been inserted in the system for sending the
bills through system every month.

Pl. wait for the reply from postal department.

On 4/9/13, 1503 MTNL <1503@bol.net.in> wrote:
> Sir/Mam,
>
>      Regarding your complaint we would like to inform you that your
> complaint's reminder has been forwarded to concerned department vide docket
> no.511353.
> We regret and apologize for the inconvenience caused.

Comments

Popular posts from this blog

RTI FORMAT- आरटीआई प्रथम अपील के आवेदन का प्रारुप

एक पत्रकार की शादी का कार्ड

सीलिंगः ये पट्टी जख्म ठीक नहीं बल्कि जख्म बढ़ा रही है