Posts

Showing posts from April, 2015

तस्वीरों में हम कुछ ऐसे दिखते हैं

Image

पंजाब केसरी (अप्रैल 2015)

Image

तीन साल तक हजारों का जुर्माना भरा लेकिन मैंने नम्बर पोर्ट नहीं कराया

Image
तीन  साल की लड़ाई के बाद आखिर आज मैं सफल ही हो गया.. सरकारी सिस्टम से पिछले तीन  साल से लड़ रहा था। दरअसल मामला मेरे मोबाइल कनेक्शन का था । एमटीएनएल ने मुझे लाख घटिया से घटिया सर्विस देने की कोशिश की लेकिन मैने अपना कनेक्शन किसी प्राईवेट कंपनी में पोर्ट कराने की बजाय सिस्टम से लड़ने की ठानी थी। करीब तीन साल पहले मैंने एमटीएनएल का पोस्टपेड कनेक्शन लिया था। लेकिन आज तक मुझे इसका बिल मेरे घर के पते पर नहीं मिला था। लेकिन जब आज डाकिया मेरे घर यह बिल वाला लैटर लेकर आया तो मुझे खुद पर गर्व होने लग गया। क्योंकि इस बिल को पाने के लिए न जाने में कितनी जनसुनावाई मैं जाकर इसकी शिकायत एमटीएनएल के अधिकारियों से की और न जाने कितनी बार मैंने कस्टूमर कॉल सैंटर पर फोन किया । वही ई-मेल का तो कहना ही नहीं, जब भी सरकारी सिस्टम से हताश होता तो एक ई-मेल एमटीएनएल को लिख देता कि जनाब मेरी यह समस्या है बिल घर पर नहीं आ रहा। बार-बार उनका एक ही जवाब आता की आपकी शिकायत आगे की कार्रवाई के लिए भेज दी है... अगले माह से आपकों यह समस्या नहीं होगी। लेकिन समस्या चलते-चलते करीब तीन साल हुए। 

लेकिन आज मुझे मेरा डिटेल एमटी…

यह क्या हो रहा है सीएम साहब

Image
40गाडियों के काफिले में लालबत्ती लगाकर चलते हैं आपके मंत्री -आम आदमी पार्टी ने कहा मंत्री से मांगा जाएगा जवाब -लाल बत्ती का विरोध करती है आप नई दिल्ली (ब्यूरो)दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल के मंत्री एक के बाद एक विवादों के घेरे में फंसते जा रहे हैं। जितेन्द्र सिंह तोमर और असीम अहमद खान के बाद ताजा मामला परिवहन मंत्री गोपाल राय का सामने आया हैं। अब तक वीवीआईपी कल्चर का विरोध करती आ रही आम आदमी पार्टी और दिल्ली सरकार के मंत्री खुद अपने ही नियमों की धज्जियां उड़ा रहे हैं। चौकाने वाली बात है कि केजरीवाल सरकार के मंत्री गोपाल राय 40 गाडियों के काफिले में लालबत्ती लगाकर चलते हैं, लेकिन उन्हें इस बात का आभास तक नहीं होता है।
दरअसल, मामला पांच अप्रैल को गोपाल राय के पैतृक गां
व  थाना मधुबन के गोबरीडीह जाते समय का है। जहां वह न केवल लाल बत्ती हूटर (सायरन) और उत्तर प्रदेश सरकार के व्हीकल फ्लीट (निजी गाड़ियों) के काफ़िले का इस्तेमाल करते देखे गए थे, बल्कि उनके काफिले में करीब 40 गाड़िया भी थी। मीडिया रिपोर्ट के अनुसार यह पूरा काफिला सरकारी गाडियों का था। और ज्यादातर गाडियों पर लालबत्ती भी ल…