तन समर्पित मन समर्पित तन समर्पित और यह जीवन समर्पित..



आज हिन्दुस्थान समाचार को पुर्नजिवित करने वाले मा. श्रीकांत जोशी जी की शोकसभा दिल्ली के कान्सूटूशन क्रल्ब में हुई.. वहां पर उनके साथ काम करने वाले कई वक्ताओं ने उनके साथ काम करने के अनुभव को साक्षा किया..
एक वक्ता ने कहा कि जब हिन्दुस्थान समाचार को पुनर्जिवित करने की बात हो रही थी तो हर छोटे से बड़े व्यक्ति व उनके सहयोगी इस पक्ष में नही थे कि हिन्दुस्थान समाचार को पुर्नजिवित किया जाए, लेकिन मा. श्रीकांत जोशी जी ने सबको विश्वाश में लेकर हिन्दुस्थान समाचार को पुर्नजिवित करने के काम को शुरु किया..
साथ ही बता दू मा. श्रीकांत जोशी जी संघ के प्रचारक थे... संघ का प्रचारक, प्रचारक जीवन में फकीर की भांति होता है... ऐसे में मां श्रीकांत जोशी जी का हिन्दुस्थान समाचार को पुर्नजिवित करना वाकई तारीफ के काबिल है...
उनके इस काम के करने यह सीख मिलती है कि व्यक्ति चाहे कितना भी निर्धन हो लेकिन उसके मन में अगर कुछ करने का दृढ संकप हो तो व्यक्ति लक्ष्य की प्राप्ति अवश्य करता है।
जय मां भारती

Comments

Popular posts from this blog

RTI FORMAT- आरटीआई प्रथम अपील के आवेदन का प्रारुप

एक पत्रकार की शादी का कार्ड

सीलिंगः ये पट्टी जख्म ठीक नहीं बल्कि जख्म बढ़ा रही है