Skip to main content

Posts

Showing posts from November, 2012

शकाहार पर एक बहस,

देखों Abp न्यूज दिवाली पर पटाखों से होने वाले शोर का दिखा रहा है कि हमें पटाखे नही जलाने चाहिए.. सराहनीय है. लेकिन कभी ईद पर बेजूबानो की बली दी जाने वाली प्रथा का भी विरोध होना चाहिए... Unlike  ·   ·  Share You,  Megha Jetley ,  Raj Mathur ,  Kuber Sharma  and  11 others  like this. Syed Mohammad Altamash Jalal   patahke aur eid ko na jode nihal ji ye dono bahut alag topic hai October 19 at 9:03pm  ·  Like Nouman Ahmed   begal me jo kali mata ko bezuban janbor ki bali di jati h.. or south indai k kai mandiro me b aisa kiya jata hai.. uska b purzor virodh hona chahiye.. sirf baraeid ka nhi... October 19 at 9:12pm  ·  Like Nihal Singh Arya   Syed Mohammad Altamash Jalal  भाई जो भी समाज की कुरुति हो उसका विरोध होना चाहिए चाहे वो किसी भी धर्म य़ा जाति से जुडी क्यों न हो.. मेरी नजर में दोनो ही चीज समाज की कुरुति के अर्तगत आती है.. October 19 at 9:12pm  ·  Like  ·  1 Nihal Singh Arya   Nouman Ahmed