अन्ना के समर्थन मे कांटो पर लेटा युवक


नई दिल्ली (हि.स.) जनलोकपाल और केन्द्रीय मंत्रियों के खिलाफ कथित भ्रष्टाचार को लेकर विशेष जांच दल के गठन की मांग को लेकर आंदोलनरत टीम अन्ना के अनशन में बढ़ रही भीड़ को देखकर लोगों में जोश भरता जा रहा है। इस दौरान अन्ना समर्थक अलग-अलग वेश-भूषा में अनशन स्थल पर देखे जा सकते हैं। इतना ही नहीं मंगलवार को उत्तर प्रदेश का एक युवक कांटो भरे पेड़ की डालियों पर लेटकर अन्ना के समर्थन में अनशनरत है। 
उत्तर प्रदेश के मथुरा जिले के छोटे से कस्बें से आया हुआ एक युवक लोगों में आंदोलन का प्रतीक बन रहा है। 27 वर्षीय सत्यनारायण सिसोदिया बबूर के पेड़ की ड़ाली पर लेट कर अनशनरत हैं। उनका कहना है कि देश में युवाओं के होते हुए भी हमारे बुजुर्ग अन्ना हजारे अनशन पर हैं। उन्होंने यह भी कहा कि भ्रष्ट्राचार के कारण भारत माता काटों पर लैटी हुई हैं इसलिए अपनी भारत मां के लिए मैं भी कांटो पर लेट कर अनशन कर रहा हूं।
अक्सर देखा गया है कि अन्ना के आंदोलन में लोगों को अपनी ओर आकर्षित करने के लिए लोग अक्सर नए-नए तरीकों से आंदोलन में अपनी उपस्थिति दर्ज करा रहे हैं। कोई अनशन में अपने शरीर पर तिरंगा छपावकर लोगों को आकर्षित कर रहा है। तो कोई कम्र उम्र के बच्चों के हाथ में तिरंगा थमा कर अकार्षण का प्रतीक बना हुआ है। कई लोंग सरकार पर व्यंग्यात्मक नारों से जनता को आकर्षित करने में लगे हैं।
इतना ही नहीं सत्यनाराण सिसौदिया के कांटों पर लैटने से उसकी पीठ बुरी तरह जख्मी हो चुकी है। जिसके कारण अन्ना हजारे ने भी सत्यनारयण से अपील की वो अपनी जिद को त्याग दें। लेकिन उसका कहना है कि वह अन्ना हजारे के अनशन को खत्म करने के बाद ही अब वह यहां से उठूगां।
युवक उत्तर प्रदेश से बारहवीं पास है। उसका कहना है कि देश में भ्रष्ट्राचार के कारण उसे नौकरी नहीं मिली जिसके कारण वह खेती करता है। युवक शादी-शुदा है उसकी एक बेटी भी है।

हिन्दुस्थान समाचार/31.07.2012/निहाल

Comments

Popular posts from this blog

RTI FORMAT- आरटीआई प्रथम अपील के आवेदन का प्रारुप

एक पत्रकार की शादी का कार्ड

सीलिंगः ये पट्टी जख्म ठीक नहीं बल्कि जख्म बढ़ा रही है