Skip to main content

Posts

Showing posts from August, 2010

ADS

Create Your Own Blog: 6 Easy Projects to Start Blogging Like a Pro

डी यू के रिजल्ट देरी होने से छात्रों में गहरा आक्रोश

डी यू के लगभग सभी कोर्से रिजल्ट  घोषित किये जा चुके है लेकिन डी यू में ४ कॉलेज में चलने वाले एक मात्र पाठ्यक्रम पत्रकारिता का परिणाम अभी तक नहीं घोषित हुआ है. जिसके कारन इस पाठ्यक्रम में पड़ने वाले छात्र काफी परेशां है | परिणाम आने की देरी को लेकर डी यू के छात्र ऑरकुट ( SOCIAL NETWORKING WEBSITE ) पर कुछ  अपनी मन की बाते जाहिर की है तो पेश है कुछ अंश  RAKESH RANJAN - says ""now its enough, ab main kabhi DU ka website check nahi karunga.. "*"T/-\R|_||\|"* V@T$ - says "ho gaye pyaase result ke....jaane kab aayega...du k patrakaarita vibhaag me mach gaya haahakaar" view more comments Loading... all comments shown ŚÁČℋℐஇ • » αηgєℓιzє∂ ∂єνιℓ « • hehehe shabash ladke ek line mein saari feelings describe kr di.. rohit IIMC'ian - says "apna result kab ayega??????????????" view more comments Loading... all comments shown RAKESH RANJAN aaega bhai, ek din..................... ATUL ***WARNING: Result Ahead*** abe kabhi bhi aae... ab main tang

मीडिया खबर डाट कॉम पर भीम राव आंबेडकर कॉलेज की प्रतिभा -

दिव्या तोमर ने ज्वाइन किया आई बी एन 7 फरेवेल  के दोरान दिव्या  तोमर   जी  की फोटो- निहाल सिंह  दिल्ली विसविध्यालय में पत्रकारिता कोर्से में एक कृतिमान हासिल पहेले से ही है | क्योकि दिल्ली विशाविध्य्लाये के भीम  राव आंबेडकर कॉलेज ने इस कोर्से की नीव सन १९९४ में राखी गई थी जब ये कॉलेज गीता कालोनी में चलता था;  फिर इसकी नई ईमारत का निर्माण वजीराबाद रोड दिल्ली -५३ में हो गया और अब यही पर विद्याथियो को पढाया जा रहा है; या इस कॉलेज का सोभाग्य ऐसा है की इस  कॉलेज से लोग पढ़कर अपने अपने छेत्र में काफी सहर्निये काम कर रहे है | यह पहली बार नहीं हुआ है की भीम राव आंबेडकर कॉलेज से  पत्रकारिता का छात्र किसी बड़े चैनल  में किसी को जॉब मिली हो  पहेले भी रीमा पराशर ( आज तक ), संजय नंदन ( स्टार न्यूज़ ) विकास कौशिक ( इंडिया टीवी ) और राजेश सर ( नव भारत ) और ADHI लोग   काम कर रहे है , और इसी कड़ी  में जुड़ गया  एक और नाम दिव्या तोमर एक ऐसी  छात्रा जिसको देखने से ही लगता था की ये कुछ न जरुर करके दिखाएंगी और उन्होंने ऐसा कर दिखया दिव्या जी के क्लास के बाकी लोग भी काफी प्रतिभा साली है  | मेरी उनसे पहल

मन करता है कुछ लिखू

मन करता है कुछ   लिखू  फिर सोचता हु की क्या लिखू उनके लिए लिखू जिन्हें सुबह के खाने क बाद शाम के खाने का पता नहीं होता  या उनके लिए लिखू जो जिन्हें सुबह खाने के बाद शाम का खाना पहेले से ही उनका इन्तजार करता है||||| फिर मन करता है की कुछ लिखू  की सोचता हु की ऐसा लिखू की  शायद इस देश में  ऐसा हो जाये  रात को कोई माँ और उसका बच्चा भूखा न सो जाये ||| जिसके वजह से माँ की आँख में अपने लाल के लिए कभी आशु न आये  मन करता है की कुछ लिखू  फिर सोचता हु की क्या लिखू  ऐसा लिखू जो दूसरो के काम आये  या ऐसा लिखू जो इतिहास बन जाये || मन करता है की कुछ लिखू  फिर सोचता हु की क्या लिखू  फिर थोड़ी ख़ुशी आती और मन कहता है  कोई तो  आये जो मेरे मन को समझाये ||| की दिल की बात दिल में न रह जाये  अभी समय है पता नहीं कल आये या न आये कल ईशवर ने तुजे बुला लिया तो  कही धरती पर आने  का मकशद  पूरा हो पाए  और फिर आने वाले सालों में कई माँ कही बुखी न सो जाये ||| मन करता है कुछ  लिखू  की सभी ऐसे बन जाए  की की कोई किसी निर्बल पर हावी न हो पाए |||| मन कहता है की तू लिख जो  और तू कर भलाई  और तेरी सुनेगा कोई हिन्दुस्तानी भ